blogid : 4582 postid : 2456

जनमत

Posted On: 14 Nov, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

chart one

क्या केवल धन की प्रचुरता ही समृद्धि का सूचक है?

chart two

क्या चरित्र, नैतिकता और प्रकृति को परे रख कर हासिल की गयी आर्थिक समृद्धि उचित है?

आपकी आवाज

नैतिक और सामाजिक मूल्यों के निर्वहन के साथ हुई धन की प्रचुरता समृद्धि और सपन्नता का प्रतिक है.

मनीषा श्रीवास्तव
धन की प्रचुरता समृद्धि में सहायक है, सब कुछ नहीं.

गीता दुबे
इस तरीके से हासिल समृद्धि बिलकुल उचित नहीं है. यह लोग समाज और देश को विघटन की ओर ले जाएगी.

अजय
नैतिकता और चरित्र को अलग रख कर विकास धोखा है, प्रकृति तो हमारी माँ-बाप है.

एके .सिंह

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Buckie के द्वारा
July 12, 2016

Muchas gracias Franco. Tus estadisticas son muy completas. Muy meritoria la labor de la Legion en el Mundo Challenger. Este año tambien ya tenemos 13 titulos y podemos obtener al menos 2 titulos mas. El Mundo Future tambien hace lo suyo, ya tenemos 35 titulos. Felniitacioces Legion.


topic of the week



latest from jagran