Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

मुद्दा

विविध राष्ट्रीय मुद्दों-समस्यायों पर विचार-विमर्श, संवाद, सुझाव और समाधान देता ब्लॉग

449 Posts

100 comments

शिकायत की सुनवाई से कार्रवाई तक!

पोस्टेड ओन: 8 Nov, 2011 जनरल डब्बा में

Citizen Charter दर्द: रोजमर्रा की जिंदगी में घरकर चुके भ्रष्टाचार से शायद ही किसी का साबका न पड़ा हो। इस रोग की बानगी देखनी हो तो किसी सरकारी दफ्तर चले जाइए। अपना काम करवाने आने वाले लोगों के पास शिकायतों का अंबार है। मगर अफसोस! गुहार वहां किससे लगाएं। अगर कोई इसकी सुनवाई के लिए बैठा भी है तो वह शिकायतकर्ता को नियम-कानून की बारीकियां समझाकर चलताकर देता है। ऐसा इसलिए कि अभी उसकी जवाबदेही तय नहीं है।


दवा: अब ऐसा नहीं होगा। भला हो अन्ना हजारे साहब का। जिन्होंने भ्रष्टाचार के नाश का बिगुल फूंका। लिहाजा इस असाध्य मर्ज के खिलाफ इतनी जन जागरूकता देश के लिखित इतिहास में पहली बार दिखी। अन्ना के दबाव में ही सही सरकार को इस लाइलाज रोग की दवा खोजने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। इसी कदम के तहत सरकार ने आरटीआइ की तर्ज पर जन शिकायत निवारण अधिकार बिल लाने का फैसला किया है।


दावा: इस कानून को आरटीआइ से भी ज्यादा सक्षम बताया जा रहा है। देखना यह होगा कि इसे कानून बनाने में कितनी तत्परता बरती जाती है? क्या इसका स्वरूप जन अपेक्षाओं पर खरा उतरने लायक बन सकेगा? इस पर अमल के लिए उपयुक्त तंत्र का विकास हो पाता है या नहीं? इन आशंकाओं के बीच बड़ा मुद्दा यह भी है कि क्या भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए एक के बाद एक सख्त कानूनों को बनाने के अलावा हमें अपने अंदर भी नहीं झांकना चाहिए?


Aruna Royसरकार ने जन शिकायत निवारण कानून को शीतकालीन सत्र में पारित करने की मंशा जताई है। यह एक ऐतिहासिक कदम हो सकता है, लेकिन वेबसाइट पर डाले गए मसौदे को देखें तो इसमें कुछ मूलभूत कमियों की वजह से ऐसा लग रहा है कि यह एक अधूरा, कम व्यावहारिक और कमजोर कानून ही बन के रह जाएगा।


मसौदे के अनुसार मजबूत जन शिकायत निवारण कानून एवं मजबूत लोकपाल कानून एक-दूसरे के पूरक बनेंगे। यह कानून गांव और शहरों में अपने अधिकारों को प्राप्त करने के लिए भटकते हुए लोगों को एक सुनवाई का मौका प्रदान करेगा। यदि किसी मामले में भ्रष्टाचार पाया जाता है तो उसे लोकपाल के पास जांच एवं कानूनी कार्यवाही हेतु भेजा जा सकता है। यह लोकपाल को लाखों करोड़ों शिकायतों के भार से बचाएगा, एवं जनता को अपना हक प्राप्त करने का रास्ता मिलेगा।


प्रस्तावित कानून की सबसे महत्वपूर्ण खूबी यह है कि वह पूरे देश में लागू होगा तथा हर सरकारी विभाग से जनता को अपने हकों को प्राप्त करने का कानूनी दर्जा मिलेगा। यह समझना आवश्यक है कि शिकायत निवारण अब कोई आज्ञा या सद्इच्छा नहीं बल्कि कानूनी हक होगा, यह लोकपाल विमर्श के दौरान मांगे जा रहे नागरिक अधिकार पत्र से आगे का कदम है, क्योंकि सिटिजन चार्टर अब तक यह स्थापित करता है कि विभाग जितना चाहे, जैसे चाहे नागरिकों की सुने मगर इस कानून में प्रावधान है कि हर दफ्तर और विभाग की यह जिम्मेदारी होगी कि वह हर जायज शिकायत का समाधान 15 दिन के अन्दर करे।


यह कानून विभिन्न राज्यों द्वारा लाए गए लोक सेवा गारंटी बिल को भी मजबूत करेगा क्योंकि वो सेवा की गांरटी स्थापित करता है और सरकारी कामकाज की जवाबदेही जनता के प्रति सुनिश्चित करता है। अगर इसे सुनिश्चित करने में कोई भी विभाग विफल रहता है तो उस पर जुर्माना लगाया जायेगा, जैसे सूचना के अधिकार कानून में लगता है। यह भी सरकार का सकारात्मक पहलू है कि शिकायत निवारण हेतु जो पांच आयुक्त नियुक्त किए जाएंगे, उसमें संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक आरक्षण व्यवस्था को मान्य किया गया है, मगर चिंता की बात यह है कि लोक शिकायत निवारण हेतु केंद्र और राज्य स्तर तक ही स्वतंत्र व्यवस्था प्रस्तावित है। सूचना के जन अधिकार के राष्ट्रीय अभियान (एनसीपीआरआई) द्वारा प्रस्तावित ब्लॉक स्तरीय जनता सहायता केंद्र तथा जिला स्तरीय लोक शिकायत निवारण प्राधिकरण की स्वतंत्र व्यवस्था सरकार के मसौदे से बाहर कर दी गई है। अगर ऐसा ही कायम रहता है तो इस कानून की मूल भावना ही खत्म हो जायेगी। जितना संभव हो सके शिकायतों का निचले स्तर पर ही निपटारा किया जाना जरूरी है।


Bhanwar Meghwanshiएक आम जन के बूते की यह बात नहीं होती है कि वह अपनी शिकायत लेकर राज्य या देश की राजधानी के चक्कर काटता फिरे। वैसे भी यह कानून दफ्तरों में चक्कर से मुक्ति के लिए बनाया जा रहा है। इसलिए जरूरी है कि हर ब्लॉक में एक जनता सहायता केंद्र बनाया जाए जिसमें एक कोई गैर सरकारी व्यक्ति जनता को सरकारी विभागों द्वारा उसके हक प्राप्ति में रोड़ा अटकाने की शिकायत को लिखने, एवं उस पर हो रही कार्रवाई पर निगरानी करने में मदद करे। साथ ही जिला स्तर पर एक स्वतंत्र शिकायत निवारण प्राधिकरण हो, जहां पर लोग अपनी अपील कर सकें ताकि जिला स्तर पर उसकी शिकायतों का निवारण हो जाए। इसी के साथ यह भी आवश्यक है कि अगर निर्धारित समय सीमा में कोई विभाग लोक शिकायतों का निपटारा नहीं कर पाए तो जुर्माने के साथ साथ शिकायतकर्ता को क्षतिपूर्ति मिले।


प्रस्तावित कानून का मसौदा जनता के व्यापक विचार विमर्श हेतु सार्वजनिक हो चुका है, हमें इस अवसर का सदुपयोग करते हुए सरकार को स्पष्ट संदेश देना चाहिए कि ब्लॉक स्तर पर स्वतंत्र जनता सहायता केंद्र बने तथा जिला स्तर पर स्वंतत्र आयुक्त बने और पीड़ित व्यक्ति को क्षतिपूर्ति का प्रावधान जोडें। तभी आम जनता की सुनवाई होगी, कार्रवाई होगी और हमारे सरकारी ढांचे की जवाबदेही सुनिश्चित होगी।- [अरुणा रॉय/भंवर मेघवंशी: लेखक द्वय मजदूर किसान शक्ति संगठन के कार्यकर्ता हैं]


जनमत


chart-1क्या सरकारी दफ्तरों में बिना रिश्वत दिए आपका काम हो जाता है?


हां: 9%

नहीं: 91%



chart-2क्या सरकारी दफ्तरों में आपका काम समय से हो जाता है?


हां: 4%

नहीं: 96%


आपकी आवाज

बिना पैसा दिए वक्त पर काम कभी नहीं होता और अगर पैसा न दें तो वक्त के बाद भी नहीं होता। -खान सोहेल40 @ याहू.को.इन


नो ब्राइब नो वर्क, गिव ब्राइव डन वर्क। -डी.गौर04 @ जीमेल.कॉम


आजकल सरकारी दफ्तरों में काम करवाने के लिए बाबुओं की जेब गर्म किए बिना काम नहीं चलता। -सिंह क्षितिज27 @ याहू.कॉम


अगर रिश्वत का चढ़ावा मिल जाता है तो सरकारी दफ्तरों में कई महीने में होने वाला काम कुछ ही दिनों में हो जाता है। -राजू09023693142 @ जीमेल.कॉम

06 नवंबर को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “कानून से ज्यादा नैतिक निर्माण की जरूरत”  पढ़ने के लिए क्लिक करें.

06 नवंबर को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “सिटिजन चार्टर की हकीकत”  पढ़ने के लिए क्लिक करें.

06 नवंबर को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “सिटिजन चार्टर की खास बातें”  पढ़ने के लिए क्लिक करें.

06 नवंबर को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “दस के दम से भ्रष्टाचार बेदम!”  पढ़ने के लिए क्लिक करें.

साभार : दैनिक जागरण 06 नवंबर 2011 (रविवार)

नोट – मुद्दा से संबद्ध आलेख दैनिक जागरण के सभी संस्करणों में हर रविवार को प्रकाशित किए जाते हैं.





Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (6 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

25 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook0Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

jay parashar के द्वारा
October 1, 2014

Gram panchyt my jo new rashan card diye ja rhe hy unka koi charge hy ya nisulk diye ja rhe jate he.. Charge hy to kitna he

ANKIT VERMA के द्वारा
August 30, 2014

1 सर जब लड.का लड.की एक समान है तॊ लड.कियॊ कॊ अारक्षण दिया जाता है लड.कॊ नही क्यॊ

brajesh kourav के द्वारा
August 27, 2014

ek bpl card dhari kitni bar rti ke tahat nisulk jankari prapt kar sakta hai plz sir send me answar on my mail id my mail id is brajesh.nyk@gmail.com mobile no. 8989608125

narendra pathak के द्वारा
August 27, 2014

gram rojgar sevak kab parmanet hoge

MAHENDRA KUMAR PAL के द्वारा
August 16, 2014

SCHOLARSHIPS NA AANE KE BAARE MAIN SUCHNA

amitabh singhal के द्वारा
August 15, 2014

i submit RTi aplication in jawahar navoday vidhyalaya chandrakeshar dam dewas with non judicial stam of rs 10/- but principal after 27 days reply that stamp is not valid you submit postal order and after submitting postal order my application is still not responded , principal promoted to assistant commissioner and incharge principal is not replying / is non judicial stamp is not valid ? how can i complaint principals act to his senior officer? he deliberately do this to delay my application

अनुपम गुप्ता के द्वारा
July 27, 2014

केवल पब्लिक को बेकूफ बनाने वाला कानून है| किसी फरयादी को सूचना आयोग मे 6-7 महीना का तारीख मिलता है |तब तक सम्बधित अधिकारी का ट्रान्सफर हो जाता है | और आयोग मे तारीख देकर भी अधिकारी छुट्टी लगा कर 5-6 माह की तारीख लगाते है. आखिर लखनऊ आने जाने मे लोगो का कितना खर्च परेशानी होती है. अधिकारी क्या जाने.| ऐसे तो मिट गया भष्ट्राचार 

CHANDRASHEKHAR PRASAD SAW के द्वारा
July 26, 2014

सर मेरा नाम चंद्रशेखर प्रसाद साव है , मैंने RTI ACT 2005 के तहत PIO से कुछ जानकारिया मांगी तो मुझे RS 14/- रूपया माँगा गया मैंने वो PIO के नाम पर RS 10/- का दो IPO SPEED POST से भेज दिया, पर मुझे भेजने के पंद्रह दिन बाद भी कोई सुचना नहीं मिला | क्या आप मुझे बता सकते है की कितने दिन बाद वो सूचना मुझे मिल सकती है ?

ANAND के द्वारा
July 23, 2014

सर में आनंद शर्मा विक्रम यूनिवर्सिटी उज्जैन में 1st सेमेस्टर की atkt परीक्षा 2013 में दी थी किन्तु मेरे रिजल्ट में w.h होने के कारन में यूनिवर्सिटी गया लेकिन वहां से मुज़े कोई ढंग से जवाब नही दे रहे है मेने १५ चक्कर लगा दिए है और फिर भी मेरी कोई सुनवाई नही हो रही है प्ल्ज़ आप कुछ बताये क्या कृ में ???

Nirmal Kumar Sharma के द्वारा
July 21, 2014

The district aayurvad officer of ajmer is not allowing me to do work The district aayurvadic officer of ajmer is not allowing me to keep my attendance I do not get my salary since the month of April 2014 The aayur

Deepak kumar के द्वारा
July 18, 2014

Dear sir this is deepak kumar ,vill-mishroliya,p.o-paktola,p.s-dumra,distt-sitamarhi .i have applied for reissue of my passport.my file no is -PA1077726752414,also have completed police verification .12th of june 2014 my police verification report has been sent to district SP OFFICE by dumra thana . 3/2 month has completed but my clear police report is not going to REGIONAL PATNA PASSPORT OFFICE and they always told me after 2 days we will sending your report they also told me if u have urjent give some amount so kindly i am requesting to you sir take positive action and reply me as soon as possible .i am waiting for your fruitfull reply NAME-DEEPAK KUMAR FILE NO-PA1077726752414 SP OFFICE FILE NO-4768 MOBILE NO-08108046281,9708160816 EMAIL ID-deepakkumarroy786@gmail.com

santosh के द्वारा
June 8, 2014

sir, there in very bab sitiation of sitamarhi (bihar) in the field of education becouse in this district many persons appointed as a teacher on fake certificate of trend teacher by expending huge money for eg.-Rampukar ray and her wife Punam devi posted in middle school sirsiya, bathanaha, (sitamarhi). mr. Sanjay kumar residing at vill.- sirsiya, p.o – narha, p.s. – bathanaha,via- sursand, dist.- sitamarhi. mr Rampukar is the main duplicate certificate provider.

raman singh के द्वारा
April 14, 2014

sar/madam mai raman singh gram kharowa po sirkhriya ps arriya sangram disti madhubani hamare gaon me manrega ke tahat mukhiya bhagirath lal das or ward mem jiriya devi rojgar sewak binod mandal ne milkar panchayt me jitne per lagye gaye sare ke sare sukha gaye or jo rakhwali urwark ke liye dhan rasi mila ye sre gawan kar gaye sir mujhe ye sari jankariyan prapt ap chahiye

bharti के द्वारा
April 11, 2014

mujhe y janna h ki nagarpalika m kaam karnewale forthclass walo ka kaam h kya.kyuki y gali saaf nahi karte.kuda uthane k har mahine k pese lete h.to sarkari kaam kya h inka.sarkari tankha kis kaam ki milti h inhe.pl tell m

vikas singh के द्वारा
March 13, 2014

aaj ek choti si society se lekar upar tak bhrastacchar hai.mai jis socity me rahata hu vaha par secratory ne paisaa khakar builder ko redevlopment ke liye haa kar di hai lekin ham kuch kar nahi sakate.ek aadami jo roji roti ke chakkar me ek sthan se dusare sthan par aaya hai usakim sunwai ya sahi ray dene ke liye koi sanstha nahi hai .mere hisaab se aaj koi bhi bhrastacchar ko rok nahi sakta kyuki sab ek jaise hi hai

Saleem Ansary के द्वारा
March 10, 2014

APLकारड पर  रासन ही नही देते यहा तक कि चीनी नही मीलता 

SANGRAM SINGH के द्वारा
February 27, 2014

महोदय मैं संग्राम सिंह ग्रामग्राम-आशापुर,पोस्ट-जेठवारा,जिला- प्रतापगढ का निवासी हूं |मैंने खण्ड विकास अधिकारी को ग्राम सभा मे मनरेगा के तहत कराये कार्यों की जानकारी मांगी तो वहॉ से मुझे  6126 रुपया ग्राम पंचायत के खाते में जमा करने के लिए कहा गया किसलिए जमा करना ये सब कुछ नही     लिखा था उसमे मुझे बरगलाया गया| अतः श्री मान जी आगे जनसूचना किससे मांगी जाये बिस्तार से सूचित करें मो0-9161918444

    BHARAT के द्वारा
    June 9, 2014

    मैने आप की कंप्लेंट देखी हैं आप RTI के तहत खण्ड विकास अधिकारी से पूछे की वो किस क़ानून की किस धारा के अंतर्गत आप से 6126 रुपये माँग रहा हैं अग्र कोई हाल नही मिलता तो आप अपने एरिया के कोमिशनर ऑफीस से RTI के तहत जानकारी माँग सकते हैं 9216077111

BALRAM के द्वारा
January 17, 2014

Dear sir/madam MERA NAAM BALRAM HAI MERE PAPA KI DEATH (NOV 2008 ) ME HUI THI WO EK GOVT EMPLOYEE ,NDMC ME THE PAR AAJ TAK MUJHE JOB NAHI MILI HAI JAB BHI OFFICE JATA HUN YAHI SUNNE KO MILTA HAI KI KIYO PARESAN HO RAHE HO KAHI (PVT) JOB KAR LO NAHI TO AISI HI PARESAN HOTE RAHO GE OR KOI SUNWAHI NAHI HO RAHI HAI MUHE KYA KARNA CHAHIYE KUCH SAMAJH NAHI AA RAHA HAI PLEASE HELP ME

chetan ram meghwal के द्वारा
October 21, 2013

sir g muje 2 yers ho gaye hain jo muje abhi tak rajya suchana adhikari se abhi tak koi jabab nahi mila hain ,muje aage kiya karna chiye ki jise suchna mil sake,

Ricky के द्वारा
September 11, 2013

sir/madam ye jo rti act hai ye time bahut barbaad karta hai , behtar hoga ki hum saare department ko private kar dein or hare karmchari ko suchna dene waala agent bana dein de suchna dene ke paise le or iss paise se hi in karam chariyon ko vetann diya jaaye ( jo jotna kaam kare use u7tnaa hi vetan mile ) humein saare sarkaari vibhaag ka computerrizatioin kar dena chaahiye jisse koi bhi kisi bhi suchna ko maatra kucha paise deaker suchna le sake or isske liye fgaaltu ka papers kia naatak na ho ab jabvki aadhaar bun gaya hai to ye kaam aasaani se kiya jaa saktaa hai rti complaint ki online vyavastha ho , abhi dekhne me ye aata hai ki kaai jagah or kjai rajyon ne rti ki online vyavastha nahi ki hai ya in rajyaon me koi bhi rti online complaint register ki koi vayavastha nahi hai behter hoga rti ka toll free no uplabhdha karaaya jaaye rti karya karta jo achcha kiaarya kiar rahe hai unnhe prize dena chahiye bharshta sarkaari adhikiaari or karamchariyon ko nokarei se nnikaal dena chahiye ort sazaa miulna chgahiye ek baat or sarkaar ko kjoi aise pradaali lana chahiye jisme exam ke rtesults ki copy students ko pradaan ki jaaye abhi ye kah diya jata hai aapki copy nashta kar di gayi asal me kuch log exam me achcha likhne ke baad bvhi come no. paate hai or to or fial bhi kare diye jaate or kuck champooo teracher ki kaarstaani hoti ya kuch naakiaara kjaramchari ki ki lekin iskia phal students ko bhugatna padta hai bvehter hoga exam me paar darshita laai jaaye or resulta me or copy checking me bvhiu kai bvaar ye kaha jata hai ki is suchna se shashan ki gupt suchna pagathogi ya iss se desh hit ko khatra hai aisa naaaatak band hona chahiye plz give me rti toll free no..

mohd shakeel के द्वारा
August 23, 2013

sir mera naam mohd shakeel maine 2013 me madarsa board ka mumshi ka exam diya tha shahi shahi lekhne ke baad bhi mujhe fail kar diya mera roll n1116157 hai.maine papar sabhi answer diye magar mujhe phir bhi fail kar diya sir plz mere copy phir se check karwa kar shahi nirnay kar thank you

dharmendra varma के द्वारा
April 11, 2013

sir ji maine bhi ek jankari iti ramnagar satna m.p se mangi thi to mujhe ye likh kar de diya gaya ki suchna ka adhikar adhniyam 2005 ki dhara 8(1)(k) ke tahat diya jana sambhav nahi hai ye jankari loc hit me na hone ke karan aapka avedan amany kiya ja raha hai maine 2nd apeel rajester dank se jd office rewa ko ki lekin aaj 70 din gujar jane ke baad jankari pradan nahi ki gai ye hai suchna ka adhi kaar

praveen mishra के द्वारा
October 25, 2012

sab ka sab dikhava hai, block lavel se laker d.m. tak nachte reho lakin jankari nahi milti. praveen mishra (advocate), gonda, (9452130247)

jagdish r purohit के द्वारा
November 8, 2011

JAB SE MINE RTI ACT 2005 KA NAME SUNA THA TAB MUJE LAGA KI YE KANUN BAHUT HI ACHA HAI .HAR VIBHAGO ME HO RAHI GHAPLE BAZI KAM HO JAYEGI ..FIR MINE NET PE DEKHA RTI,ACT 2005 TAB IS KANUN KI PAKRIYA SAMJ ME AAYI ..FIR MINE RAJASHTHAN KE JAKOR JILE ME SAB SE PEHLE GRAM PANCHAYAT JODWDA TIHSIL BHINMAL JILLA JALOR RAJASHTHAN ..YE MERA GAAV HAI ,PEHLA AAVEDAN MERE GAAV ME PANCHAYAT ME KIA 30 DIN BAAD ME 1ST APPEAL KI 40 DIN BAAD 2ND APPEAL KI ,AAJ 2ND APEAL KIYE HUE 90 DIN HO GAYE HAI AAJ TAK KOI SUCHNA NAHI MILI .BAAD ME MINE HMARI JASWANTPURA PANCHAYAT SAMITI KE 20 GAVO ME ,PANCHAYAT VIBHAG UPSWASTHYA VIBHAG OR SCHOOL ME AAVEDAN KIYE ..2ND APIAL BHI HO GAYI ..SUCHNA AAJ TAK NAHI MILI ..YE HAI RTI ACT 2005..Mine uske baad jilla jalor ke .[.jilla parishad vibhag] .[van vibhag][ karsi vibhag][ pwd][,khanan vibhag] me bhi aavedan kiye jinme kuch ki 1st apial ho gayi or kuch ki 2nd appial bhi ho gayi hai muje aaj tak suchna nahi mili ,,mila to sirf galt or gumrah karne ke latter…ye hai suchna ka adhikar adhinium 2005…mine jab se rti se juda hu tab se aaj tak 100 aavedan kar suka hu.or 40 1st appial 25 2nd appial ….muje es pure karyakarm me ek suchna jalor police vibhag se mili ek school se ek gram panchayat se or ek sihkari samiti se ….vande maatram ..jay hind..R.T.I activist jagdish r purohit jalor rajashthan….




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित